उत्तराखंडी ई-पत्रिका की गतिविधियाँ ई-मेल पर

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

उत्तराखंडी ई-पत्रिका

Friday, June 5, 2009

आँखौं मा आंसू"

यूँ आंख्यौं मा, कुजाणि क्यौकु,
बगणा छन, दण-मण आंसू,
मन मा मेरा, यनु कुछ निछ,
आज होयुं छ क्वांसू.....

प्यारी ब्वै होलि, याद कन्नि मैं,
मन होलु होयुं क्वांसू,
देळि मा बैठि, होलि बाटु हेन्नि,
तब्बि बगणा छन आंसू....

यूँ आंख्यौं मा, कुजाणि क्यौकु,
बगणा छन, दण-मण आंसू,
मन मा मेरा, यनु कुछ निछ,
आज होयुं छ क्वांसू.....

होलु क्वी दगड़्या, याद कन्नु मैं,
होयुं होलु मन वैकु क्वांसू,
यूँ आंख्यौं मा, तब्बि बगणा छन,
दण-मण ताता आंसू.....

यूँ आंख्यौं मा, कुजाणि क्यौकु,
बगणा छन, दण-मण आंसू,
मन मा मेरा, यनु कुछ निछ,
आज होयुं छ क्वांसू.....

खुद लगणि होलि, कै दगड़्या तैं,
कख होलु भैजि "जिग्यांसू",
यनु लगणु छ, तब्बि औणा छन,
यूँ आंख्यौं मा आंसू..........

यूँ आंख्यौं मा, कुजाणि क्यौकु,
बगणा छन, दण-मण आंसू,
मन मा मेरा, यनु कुछ निछ,
आज होयुं छ क्वांसू.....

सर्वाधिकार सुरक्षित,उद्धरण, प्रकाशन के लिए कवि की अनुमति लेना वांछनीय है)
जगमोहन सिंह जयाड़ा "जिग्यांसू"
ग्राम: बागी नौसा, पट्टी. चन्द्रबदनी,
टेहरी गढ़वाल-२४९१२२
5.6.2009